Tuesday, January 24, 2012

'Soulmate'

'Soulmate' शब्द है अंग्रेजी में, सुना ही होगा सबने।
मुझे हंसी आती थी जब भी मैं सुनती थी...पर अब...
सोचने पर मजबूर कर देता है। यकीन होने लगा है!
कितना अजीब है ना?  मैं उसे देखते ही पहचान गयी।
मैं...या शायद मेरी रूह।  शायद पुराने दोस्त रहे होंगे...
हो सकता है इस ज़िन्दगी से पहले कभी? किसे पता?
शब्दों की ज़रुरत महसूस ही नहीं हुई फिर तो, दोनों ने 
यूँही दिल की बातें सुनना बेहतर समझा। अच्चा लगा।
अक्सर होता है, कहानियां सुनते हैं सभी मोहब्बत की।
मैंने भी सुने थे किस्से, देखा था लोगों को, और सोच
लिया था की, "बेटा, तुम्हारा कुछ नहीं हो सकता!"
और फिर अचानक आई मेरे दर दस्तक 'माही' की...
दिल का खोना तो लाज़मी था, सो वोह ले गयी साथ।
कुछ खोता है तो हम ढूंढते हैं, पर मैं तो खुश थी बहुत!
आखिर मेरे हिस्से में उसका खूबसूरत दिल जो आया।
और सच कहूँ तो, उसका मिलना, उससे मोहब्बत...
नया नहीं था...हम पहले कहीं मिल चुके थे, पक्का!
याद तो नहीं, ना उसे, ना मुझे। हम सोचते भी नहीं।
'विती' खुशनसीब समझती है खुद को आज, 'माही,'
तुम्हारे बिना काफी हद तक आधी-अधूरी सी थी।

8 comments:

  1. Been some time since I read Hindi in Devanagari... been longer since I read something this touching.

    B, you should write (read: post) more often!

    ReplyDelete
  2. Ishq kijiye phir samajhiye viti ki yeh post kya cheez hai.

    ReplyDelete
  3. you know the way you write has a kind of melody and ryhme to it it truly makes it easy for us to grab hold of it.

    Your definition of a souls mate is so strong... I could feel how much you yearn for that one through your words.. Waiting patiently for mine too :D

    ReplyDelete
  4. Very articulate without going overboard with sentimentality...liked it.

    Can you please change the color of the font or the background? It is so hard to read the dark font against the black background.

    ReplyDelete
  5. You can use Outlook 2010, through a rich set of features and custom communication with one or more recipients.With the release of Outlook 2010 download, you get a richer experience to meet your communication needs at work, home and school.

    ReplyDelete